Home » Hindi Poem on School Days and Friends| Poem on Missing School Days| Farewell Poem

Hindi Poem on School Days and Friends| Poem on Missing School Days| Farewell Poem

 

 याद आता है वो बीता हुआ कल 

स्कूल के वो सबसे  हसीन पल

वो physics लैब, वो chemistry लैब, वो Assembly, वो games period, वो dosto की मंडली, वो Teachers का डाँटना, और वो Principal sir की speech

Hindi Poem on School Days and Friends|Poem on Missing School Days|Farewell Poem
Farewell poem in Hindi

भले ही जिंदगी की रेस में हम बहुत आगे निकल गए है पर कुछ खट्टी मीठी यादों का अनुभव अपने  साथ ले गए है।

 

जिंदगी का सबसे  खूबसूरत सा सफर

बस अब याद में  सिमट गया है।

कुछ खट्टी कुछ मिठी

और कुछ अनकही बाते हर Student की।

 

वो Good morning mam,  Good morning sir 

कहकर पुकारना

और I be an  Obedient Student 

का tag अपने गले लगाना।

 

वो test tube का टूटना

और teacher से  फिर डांट खाना

नंबर कम आने पे उदास हो जाना

और अच्छे नंबर आने पे teacher से  शाबाशी पाना।

 

वो Assembly में आंख मिचौनी खेलना

फिर Class से बाहर खड़े  रहने की सजा पाना

वो रोज़ नए बहाने ढूंढना

और canteen में फिर समोसा खाते हुए पाए जाना।

 

वो last bench पे बैठना

दोस्तो के साथ खूब झूमना

exam की सारी रात पढ़ना

और फिर Result का बेसर्बी से इंतज़ार करना।

 

Poem on School Days

जिंदगी का सबसे खूबसूरत सा सफर

बस अब याद में सिमट गया है।

कुछ अनकहे से ख्वाब

और कुछ खट्टीमिठी याद बन के रह गया है।

अब तो facebookपे सिर्फ

friends बन के रह गए है

मिलना तो दूर एक दूसरे 

के tag बन के रह गए है।

जिंदगी ने रफ्तार पकड़ ली है

जिम्दारियों ने जकड़ लिया है

फ़ुर्सत के पल सिमट गए है

बस अब एक दूसरे की याद में याद बन के रह गए है।

I Hope you like this poem on School ke wo din . If you like my poems then plz like my Facebook page and subscribe my you tube channel also.

Read:

Poem on Environment: https://nrinkle.com/2019/12/poem-on-teachers-farewell-in-hindi/

Poem on Corona Virus: https://nrinkle.com/2020/03/poem-on-corona-virus-hindi/

Hindi Poem on Friends: https://nrinkle.com/2019/04/hindi-kavita-dosti-jindigi-ka-humsafar/

1 thought on “Hindi Poem on School Days and Friends| Poem on Missing School Days| Farewell Poem”

  1. Pingback: MERA BACHPAN ESSAY IN HINDI | मेरा बचपन हिन्दी निबंध - NR HINDI SECRET DIARY

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *