Skip to content
Home » Poems

Poems

patriotic poem, deshbhakti poem, deshbhakti par kavita

Desh bhakti kavita in Hindi | शहीद पर कविता | Kavita on 15 august in Hindi

यह तो मात्र कुछ क्रांतिकारी हैपर शेष अभी बाकी हैयह आजादी जिसके लहू से होकर निकली हैमिट्टी में उसकी कफ़न की कुछ बूंदे आज भी… Read More »Desh bhakti kavita in Hindi | शहीद पर कविता | Kavita on 15 august in Hindi

poem on guru in Hindi, guru par kavita, best poetry on teacher

Guru Purnima Poem in Hindi |Short poem on guru in Hindi | Teacher गुरु पर कविता

  • by

चीर कर आसमानों कोसूरज फिर निकल आया हैपरिंदो की तरह उड़ने का हुनर सिखाने के लिएगुरु खुद धरा पर आया है। गुरु बुझते हुए दीपक… Read More »Guru Purnima Poem in Hindi |Short poem on guru in Hindi | Teacher गुरु पर कविता

poetry on women in hindi, nari pe kavita, nari shakti pe kavita

नारी पे कविता । नारी के सम्मान पे कविता । Best Poem on Women in Hindi

  • by

में चूड़ियां की खनखनाहट नहीं, लाला लाजपत राय की लाठी हु,में आटा से सने दो कोमल हाथ नहींकुम्हार की हाथ से गढी वो मजबूत मिट्टी… Read More »नारी पे कविता । नारी के सम्मान पे कविता । Best Poem on Women in Hindi

dada dadi par kavita, grandparents day poem

Dada Dadi Par Kavita | Grandparents Day Poem in Hindi | Poetry on Dada Dadi

  • by

डाली है हम सब आपकेआपने बड़े प्यार से हमे सींचा हैआपकी छत्र छाया में पलकर ही बनी यह सुंदर बगिया है। आपसे महकता यह प्यार… Read More »Dada Dadi Par Kavita | Grandparents Day Poem in Hindi | Poetry on Dada Dadi

माता जी की पुण्यतिथि पर क्या लिखें | Poetry on Maa puniythiti | Maa ki Yaad me Kavita

  • by

मेरी मां नायाब थी, दुनिया में सबसे खुबसूरत थीगोदी में उनके अलग ही सुख मिलता थाऐसा लगता था कायनात का रास्ता भी यही से निकलता… Read More »माता जी की पुण्यतिथि पर क्या लिखें | Poetry on Maa puniythiti | Maa ki Yaad me Kavita

sone ki nisandi pe kavita, poetry on sone ki nisandi

सोने की निसंडी | Sone Ki Nisandi pe Kavita

रस्म रिवाज या परंपरा निराली हैरिश्तों को एक मोती में पिरोती, खुशियों की प्याली हैघर में हुआ नन्हे का जन्म, देखो रिश्तों में वही गहराई… Read More »सोने की निसंडी | Sone Ki Nisandi pe Kavita

रानी पद्मावती के जौहर पर कविता | Poetry on Rani Padmavati

  • by

सूरज सा तेज चमकता था जिनके चेहरे पेमन चंदा सा निर्मल थाअप्सरा समान सौंदर्यपर वो पिघला हुआ हुआ खरा सोना था। सिसोदिया कुल की मान,… Read More »रानी पद्मावती के जौहर पर कविता | Poetry on Rani Padmavati

FAREWELL POETRY FOR TEACHER IN HINDI

विदाई समारोह पर कविता | Farewell Poems for Teachers in Hindi

पलकों पे लेकर आसमान लाए हैचांद सितारे भी सारे साथ लाए हैदुआए के सागर लाए हैविदाई की इस बेला पर आपके लिए खुशियों के गुलदस्ते… Read More »विदाई समारोह पर कविता | Farewell Poems for Teachers in Hindi

farewell poem, farewell poetry

Farewell Hindi Poem | Farewell Party Poem in Hindi | विदाई समारोह पर कविता

  • by

ए गुजरते हुए लम्होंजरा ठहरो, जरा ठहरोकुछ पल ही सही, कुछ वक्त ही सही,आलम कुछ ऐसा सजाना हैइस दिन को और यादगार बनाना हैजिंदगी रफ्तार… Read More »Farewell Hindi Poem | Farewell Party Poem in Hindi | विदाई समारोह पर कविता

error: Content is protected !!