Home » Dikshant Samaroh Speech in Hindi | Convocation Ceremony Speech in Hindi | दीक्षांत समारोह भाषण

Dikshant Samaroh Speech in Hindi | Convocation Ceremony Speech in Hindi | दीक्षांत समारोह भाषण

ज्ञान का समावेश होता जिस भव्य मंदिर में,

शिक्षा का होता आदान प्रदान है

लाखों पीढ़ियां शिक्षित होती

एक भव्य समाज का होता इसे निर्माण है


Hello everyoneआदरणीय प्रधानाचार्य, शिशकगण और मेरे प्यारे सहपाठीयो 


जैसा कि हम सब जानते है, आज इस विद्यालय का11 दीक्षांत समोराह है जिसके लिए हम सब यहां एकत्रित हुए है। यह सिर्फ दीक्षांत समोराह नही है, बल्कि हमारे इतने वर्षो का प्रयास, हमारे टीचर्स की मेहनत और इस संस्थान की चारदीवारी में जिस तरह हमारी नीव मजबूत हुई, जिस तरह हम सब एक इसे सांचे में ढाले गए जहा से हम कही भी चले जाए दुनिया के किसी भी कोने में चले जाए, व्यवसाय, नौकरी या डॉक्टर, इंजीनियर, कुछ भी बन जाए, हम कामयाब जरूर होंगे, क्योंकि हमने यहां ज्ञान का सतत और निरंतर विकास करते हुए, व्यवसायिक परीक्षण का समंजनस्य भी पाया और टीचर्सऔर प्रिंसिपल mam का मार्गदर्शन हमेशा हमे मिलता रहा और हम गर्व से कह सकते है की यहां से हम सक्षम नागरिक बन के ही निकल रहे है।


हम तो कोरे कागज थे, किनारा आप ने दिखाया

हर एक फूल को पल्वित आपने बनाया

यह सिर्फ पाठशाला नही शिक्षा का मंदिर है

यहाँ हर एक फूल का अपना अलग ही अस्तित्व है।


आज यू तो हमारा विदाई समोराह है, आज हमे बहुत खुश होना चाहिए, हमे मेडल्स और डिग्री से नवाजा जा रहा है, पर कुछ कहना अभी बाकी है,  एक लंबी सी यात्रा के बाद, कुछ क्षण कुछ लम्हे आप सब के साथ, इस शाम में खुशियों के साथ, टीचर्स और फ्रेंड्स के साथ में और principal mam की प्रेरणा और मोटिवेशन के साथ में, फिर क्या, कहा होंगे हम कल, हमे भी नही पता, किस कोने के होंगे, मिल पायेंगे भी या नही, एक सफ़र अब छुटने वाला है, रास्ते इंतजार में हैयाद आओगे आप सभी, बहुत कुछ कगार पे है।


थैंक्स टीचर्स for making us a better human being, thanks principal mam for your guidance and motivation every time इतना ही कहकर अपनी वाणी को विराम देती हु और सबका शुक्रिया अदा करती हु।


जिंदगी का सबसे खूबसूरत सा सफरबस अब याद में सिमटने वाला है। कुछ अनकहे से ख्वाबऔर कुछ खट्टीमिठी याद बन के रहने वाला है। अब तो facebookपे सिर्फfriends बन के रह जायेंगे मिलना तो दूर एक दूसरे के tag बन के रह जायेंगे। जिंदगी रफ्तार पकड़ लेंगीजिम्दारियों अब कल को जकड़ लेंगी फ़ुर्सत के पल सिमट गए है बस अब एक दूसरे की याद में याद बन के रह जायेंगे।

Oath Taking Ceremony Script