Skip to content
Home » मंच संचालन हेतु ताली शायरी । Clap Shayri |

मंच संचालन हेतु ताली शायरी । Clap Shayri |

  • by
tali shayri in hindi, shayri for tali

गुनगुना रही शाम है
सितारों ने भेजा नया पैगाम है
एंकरिंग करना मेरा काम है
अगर आपकी साथ और आपकी तालियों का साथ मिल जाए
तो महफिल में आ जायेंगी नई जान है।

चेहरे पे मुस्कुराहट हो तो
गम भी फीके से लगते है
मुश्किल राहों में,
मुश्किल भी अपनी सी लगती है
और मिल जाए अगर मंच को आपका प्यार है
आपकी तालियों भरे दो हाथ है
उलास छा जाएंगा हर और है
और इस महफिल को आपकी तालियों का इंतजार है

रंगनुमा यह महफिल है
रंग बिखेरने आ रहे कलाकार है
एक बार जोरदार तालियों के साथ
करे इनका हौसला अफजाई बारंबार है।

तालियों की गड़घाहट रुकनी चाहिए
इस महफिल की शोभा घटनी न चाहिए
आप सब का इंतजार जल्द ही खतम होने वाला है
और next performance अपना जलवा बिखेरने स्टेज पे आनी वाली है
So एक बार जोरदार तालियों के साथ स्वागत करते है Miss Ruhi का |

इस महफिल में जान तभी आयेंगी यारो
जब जोश और जज्बा आप सब में होंगा
इतनी सुंदर परफॉर्मेंस पर अगर तालीयो की आवाज मंच तक न पहुंचे
तो इस महफिल की शान कैसे बढ़ेंगी।एक बार जोरदार तालियों के साथ, full Josh के साथ, इस परफॉर्मेंस के लिए एक बार फिर से जोरदार तालिया हो जाए।

Tali Shayri in Hindi

Manch Sanchalan Shayri

error: Content is protected !!