Home » कविता लेखन कैसे किया जाता है | हिंदी कविताएँ कैसे लिखें | कविता लिखने का सबसे आसान तरीका | 5 Easy Steps for writing a Hindi Poetry

कविता लेखन कैसे किया जाता है | हिंदी कविताएँ कैसे लिखें | कविता लिखने का सबसे आसान तरीका | 5 Easy Steps for writing a Hindi Poetry

  • by
kavita kaise likhe, hindi poetry kaise likhe, easy steps for writing hindi poetry,

क्या आप भी पोएट्री लिखना सीखना चाहते है , क्या आप जानते है पोएट्री कैसे लिखी जाती है।
Poetry लिखने के लिए सबसे महत्वपूर्ण क्या चीज़ होती है, Poetry लिखते समय किन चीज़ों का ध्यान में रखा जाता है।

This is basic introduction of how should we write poetry ..
First of all I want to share my past year experience with you.

जब मेने अपनी पहली पोएट्री लिखी थी तो मुझे नही पता था कि यह लय, ताल और छंद क्या होते है, या पोएट्री कैसे लिखी जाती है।

I was sitting in the class, I was in 8th standard and hindi का पीरियड चल रहा था and mam ask the class to write something of their own today..

I don’t know what to write, sitting blank till 10 min, then something happen me instantly and I started writing… My starting lines comes like this..

दिलो ने जीत लड़ाई है
रातो भर सपनो में
क्या सपने सच होते है
क्या अपने काम आते है
क्या सच, क्या झूठ
आखिर क्या क्या है।

When madam seen my piece of writing, she was happy and she called me and told me that someday I might be a great writer. वही से मेरी writing की journey start हुयी।

5 Tips for writing

1. Imagination

You have to imagine the world beyond you. कहा भी गया है जहाँ न पहुँचे रवि, वहां पहुँचे कवि, और जहाँ न पहुँचे कवि वहां पहुँचे अनुभवी। हमारी imagination और हमारे सोचने की शक्त्ति or I can say our soul also works here.

2.Be Creative

You have to put different lines in your writing.. It should be very creative and how it be..कभी कभी ऐसे होता है कि हमारे मन मे भिन्न भिन्न प्रकार के विचार उत्पन्न होते है, जैसा हमारा mood होता है, जैसे हमारी feelings होती है, अगर इस time आप अपने मन के विचारों को पन्नो पे उतार देते है तो आप एक बेहतर रचना बना सकते है। उदाहरण के तौर पे, अगर आप प्रकृति के बीच बैठे हो,किसी hill station पे बैठे हो, और आप बहुत आनंद की अनुभति कर रहे हो तो you should always carry a pen and paper with you and if something coming in your mind, you should write it up..

3.Spiritual Soul

जैसा कि पोएट्री लिखना is an piece of an art. कुछ लोग इस art के साथ ही जन्म लेते है, कभी कभी तो ऐसा भी होता है, हम कर रहे कुछ और होते, पर हमारा मन कही और होता और हम सब कुछ छोड़ के कुछ ऐसा लिख देते है जो हमने imagine भी नही किया। क्योंकि हमारी soul, our six sense our heart and mind is working on it..

4. Select a Topic

हमें किस topic पे लिखना है, उसे आप select करे और फिर उसके बारे में जानकारी एकत्रित करे और उसका शब्दकोश तैयार करे।

Like mera topic है सैनिक
Then मेरा शब्दकोश कुछ इस प्रकार होगा
फौजी, शरहद, जज़्बा, तिरंगा, बर्फीली पहाड़ी, भारत, हौसला

उसके बाद we have to imagine
कुछ देर सब कुछ छोड़ के, एकांत में बैठकर, now think, imagine जब आप ऐसा करेंगे तो पायेंगे आप कुछ नया लिख पा रहे है।
Starting में आप लय, ताल, छंद को छोड़ दीजिए, इसके बारे में कभी और विस्तार से बात करेंगे।

Imagine,
Sit in alone
Write piece of paper

खड़े है वो शरहद पे
हम घर मे दीप जलाते है
वो रात भर पहरा लगाते
हम चैन की नींद में सो जाते है।

5. Practice

Practice makes a man perfect
जितना लिखोगे उतना depth में जाओगे क्योंकि पोएट्री के लिए deep emotions की जरूरत होती है
जिस पोएट्री में emotions नही
वो लोगो के दिलो को नही छू सकती
इसलिए try try try
One done will come you will write beautiful piece of art in form of poetry from your soul.

Apna Likha Kaha Publish Kare