Home » Manch Sanchalan Script for Retirement in Hindi-मंच संचालन स्क्रिप्ट इन हिंदी |Poem on Retirement in Hindi

Manch Sanchalan Script for Retirement in Hindi-मंच संचालन स्क्रिप्ट इन हिंदी |Poem on Retirement in Hindi

Anchoring Script for Retirement in Hindi, poem on Retirement in Hindi, Retirement pe Kavita, Shayri on Retirement

रिटायरमेंट का function बहुत खास होता है, क्योंकि इसके साथ हमारे emotions ओर हमारी feelings जुड़ी हुयी होती है। इसलिए हमारा यही प्रयास यह सिर्फ एक विदाई समोराह बनकर न रह जाये बल्कि एक अविस्मरणीय याद बनकर रहे।
इसलिए हमारी स्पीच भी बहुत खास होनी चाहिए क्योंकि शब्दो से ही इस समारोह में जान आती है।
तो आइए start करते है।

आज Retirement है उनका जो बहुत अजीज है
इस दफ़्तर की वो बिरला सीमेंट है
एक एक ईंट को जोड़कर जिसने हमे मजबूत बनाया है
हर एक पल को और खूबसूरत बनाया है
जिनके आने से पूरे ऑफिस में जान आ जाती है
आज विदाई है उनकी जिन्होंने हमे काबिल बनाया है।

माननीय प्रधानाचार्य जी, माननीय महोदया जी और उपस्तिथ सभी अतिथिगण

जैसा की हम सब जानते है आज यहाँ किसी खास कार्यक्रम के लिये एकत्रित हुए है, आज श्रीमान जी का retirement है, इसलिए हमने एक छोटी सी पार्टी का आयोजन किया है।

अब में principal sir से request करुँगी की वो stage पे आये और श्रीमान के बारे में दो शब्द कहे।

Thanku so much sir

Sir आपके बारे में क्या कहूं आप तो वो फूल हो जो हर बाग़ में नही खिलते है
वो खुशनसीब होते है जो आपकी छत्रछाया में रहते है
सीखा बहुत कुछ आपसे डाँट भी बहुत खायी है
तभी तो हर रोज़ आपकी महिमा ही गायी है।

विदाई की इस बेला को आगे बढ़ाते हुए अब में महोदया से request करुँगी की वो stage पे आये और श्रीमान के बारे में हमे बताकर इस पल को और अविस्मरणीय बनाये।

अब में अपने शब्दों को एक कविता सुनाकर विराम देना चाहुगी।

Retirement Poem in Hindi, सेवानिवृत्ति पर बधाई कविता, Retirement Kavita in Hindi

क्या कहू लफ्ज़ भी थम से गये है
Retiremenent की इस बेला पे हर आँख झलक सी गयी है
खुशी के पल सिमट से गये है
यादों के पन्ने में याद बन गयी है।

आप हो गए retired
पर हमारे दिल के रहोगे हमेशा ही पास
एहसासों के इस पन्ने में
रहोगे आप ही खास।

कैसे दे विदाई आपको आंखें भर आयी है
हर दिल मे एक कृति उभर आयी है
सुना हुआ दफ्तर अब कौन हमे डाँट लगायेगा
कौन हमे जिंदगी का पाठ पढ़ायेगा।

जब भी याद आपकी आएगी,
सच कहती हूं
आपके घर के बाहर आकर बैठ जायेंगे
और चाय का घुट पीकर
पुरानी यादों का सिलसिला लगायेंगे
यू न छूटेगा हमेशा पीछा
इस बात का रखना आप ध्यान
क्योंकि आपके आदेशो पे ही चलता
रहा है दफ्तर का काम।
याद बहुत आओगे
यू न आपको भूल पायेंगे
रखना हमे आप भी याद
बस इतनी सी है फरियाद।

Read:

Apna Likha Kaha Publish Kare:-https://nrinkle.com/2021/07/apna-likha-kaha-publish-kare-3-useful-tips-for-new-writers-where-to-publish-your-poems-online/

Hindi Diwas par poem:-https://nrinkle.com/2021/06/hindi-diwas-par-nibandh-speech-on-hindi-diwas-hindi-diwas-kyu-aur-kab-manaya-jata-hai-poem-on-hindi-diwas/

5 thoughts on “Manch Sanchalan Script for Retirement in Hindi-मंच संचालन स्क्रिप्ट इन हिंदी |Poem on Retirement in Hindi”

  1. Pingback: Anchoring Script for Annual Function in Hindi(College/School) - NR HINDI SECRET DIARY

  2. Pingback: Hindi Anchoring / Script / Speech / Shayri on Engagement / Ring Ceremony - NR HINDI SECRET DIARY

  3. Pingback: Anchoring Script of School/College Farewell Party in Hindi | मंच संचालन स्क्रिप्ट-स्कूल कॉलेज फेयरवेल पार्टी - NR HINDI SECRET DIARY

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *