Skip to content
Home » संतो के लिए शायरी

संतो के लिए शायरी

Jain Sant pe Kavita, Jain Sant pe Shayri, vinti jain sangh se

जैन गुरु चरणों में वंदन कविता| Jain Guru pe Kavita| Poem on Jain Sant|जैन मुनि पर कविता

चित्रण क्या करूँ उनका जिसका जीवन खुद एक विश्लेषण हैलाखों की भीड़ में बने वो पथ प्रदशक हैसंयम रूपी आभूषण से जिसने अपनी आत्मा को… Read More »जैन गुरु चरणों में वंदन कविता| Jain Guru pe Kavita| Poem on Jain Sant|जैन मुनि पर कविता